INDEPENDENCE DAY


नेताजी सुभाषचंद्र बोस द्वारा कहीं गईं ये पंक्तियाँ आज मानसपटल पर उभरती हैं- ‘हमारे बलिदान और परिश्रम से जो सफ़लता हमें मिलती है, उसे हम अपने सामथ्र्य से बचाकर रख सकते हैं।‘ आज की नौजवान पीढ़ी के ज़मीर में इस सामथ्र्य का बीज बोने का उत्तरदायित्व हम अपने विद्यालय ‘दिल्ली पब्लिक स्कूल, पुणे‘ में प्रत्येक वर्ष निभाते आ रहे हैं। स्वतंत्रता की 71वीं वर्षगाँठ के रूप में विद्यालय में हर्षोल्लास का माहौल था। विद्यालय का सम्पूर्ण वातावरण देशभक्ति के रंग में सराबोर था। विद्यालय को तिरंगे व फूलों से सुसज्जित किया गया था। देशभक्ति से ओत-प्रोत सांस्कृतिक गतिविधियों ने वातावरण को पूर्ण रूप से जष्ने-आज़ादी के भावों से सराबोर किया हुआ था। देश की संप्रभुता को श्रद्धांजलि देने हेतु विद्यालय की प्रधानाचार्या श्रीमती नीलम चक्रवर्ती ने ध्वजारोहण किया, सभी ने एक सुर में राष्ट्रगान गाया।

स्वतंत्रता के इस जष्न में आज़ाद हिन्द के बुलंद नारों ने पूरे वातावरण को देशभक्ति के जज़़्बे से ओत-प्रोत कर दिया। प्रधानाचार्या ने उपस्थित जन समूह को सम्बोधित करते हुए युवा पीढ़ी से देश की आशाओं पर खरा उतरने का आह्वान किया एवं साथ ही साथ खादी के महत्त्व पर भी प्रकाश डाला। ‘यत्र नार्यस्तु पूज्यन्ते तत्र रमन्ते देवताः।‘ देश की युवा पीढ़ी से इस कथन को आत्मसात करने का आग्रह किया।

प्रधानाचार्या महोदया ने विद्यार्थियों को कड़ा परिश्रम करने और भारत के सुसंस्कृत व सुसभ्य नागरिक बनने के लिए प्रोत्साहित किया तथा भारत की अक्षुण्ण अखंडता को बनाए रखने व शहीदों के बलिदानों को सदैव याद रखते हुए उनके दिखाए मार्ग पर चलने पर भी ज़ोर दिया।

सांस्कृतिक कार्यक्रम का शुभारंभ एक बालिका द्वारा देशभक्ति के भावों से ओतप्रोत स्वरचित कविता से किया गया, साथ-साथ देशभक्ति गीतों की प्रस्तुति भी हुई।देशप्रेम के रंग में रंगे समूहगान ‘मेरे वतन से अच्छा कोई वतन नहीं है‘ ने सभी को मंत्रमुग्ध कर दिया। थियेटर क्लब के विद्यार्थियों की लघु नाटिका प्रस्तुति ‘गाँधी मार्ग’  द्वारा एक सशक्त संदेश आज की युवा पीढ़ी को दिया गया। विद्यालय के सुदृढ़ आधार के रूप में हमारे सहायक कर्मचारीवृंद द्वारा समूहगान प्रस्तुत किया गया। नृत्य की आकर्षक व विषिष्ट शैली छत्तीसगढ़ी नृत्य ने कार्यक्रम की शोभा में चार चाँद लगा दिए। गत सप्ताह ‘स्वतंत्रता दिवस समारोह सप्ताह’ के अंतर्गत विभिन्न प्रतियोगिताएँ आयोजित की गइ जिसमें कक्षा छठी से बारहवीं तक के छात्रों द्वारा बिल्ले बनाकर व ‘ए वतन‘ आदि गतिविधियों द्वारा देश के प्रति आज़ादी के भाव को प्रकट किया।

Added on: 15 Aug 2017

Published by: School Admin